अक्षांश रेखाएं

ग्लोब ( glob ) पर पूर्व से पश्चिम की ओर खींची काल्पनिक रेखाएं, अक्षांश रेखाएं कहलाती है। अक्षांश रेखाएं ग्लोब पर आड़ी रेखाएं होती है।
पृथ्वी पर कुल 179 अक्षांश रेखाएं है, जिनमें से एक अक्षांश रेखा रेखा 00 अक्षांश पर स्थित होती है, जिसे भूमध्य रेखा कहते है। अक्षांश रेखाएं भूमध्य रेखा के समांतर होती है इसलिये इन्हें समांतर रेखाएं भी कहते है। कर्क रेखा, मकर रेखा, भूमध्य रेखा या विषुवत्त रेखा इत्यादि अक्षांश रेखाएं है। ये अक्षांश रेखाएं परस्पर समांतर होती है तथा दो अक्षांशों के बीच की जगह जोन ( कटिबंध ) कहलाती है। दो अक्षांशों के मध्य की दूरी लगभग 111 km होती है।

अक्षांश रेखाओं की लंबाई भूमध्य रेखा पर सबसे ज्यादा तथा जैसे-जैसे ध्रुवों की ओर जाते है, इनकी लंबाई कम होती जाती है। ध्रुवों पर कोई अक्षांश रेखा नहीं होती है यहां पर केवल अक्षांश बिन्दु ही होते है, इसी कारण अक्षांश रेखाएं 179 है।
अक्षांश रेखाओं से किसी स्थान की स्थिति एवं जलवायु का निर्धारण किया जा सकता है।