अम्लराज (ऐक्वा रेजिया)

अम्लराज (ऐक्वा रेजिया) 3:1 के अनुपात में सांद्र हाइड्रोक्लोरिक अम्ल एवं सांद्र नाइट्रिक अम्ल का ताजा मिश्रण होता है। यह सोना एवं प्लेटिनम को गलाने में सक्षम होता है।
अम्लराज (ऐक्वा रेजिया) को कुछ समय तक पड़ा रहने देने पर नारंगी रंग का हो जाता है।