ऊर्जा

किसी पिंड के कार्य (work) करने की क्षमता को ऊर्जा (energy) कहते है।
ऊर्जा (Energy) कई रुपों में मिलती है जैसे प्रकाश ऊर्जा , विद्युत ऊर्जा, रासायनिक ऊर्जा, यांत्रिक ऊर्जा इत्यादि।।
ऊर्जा (Energy) को न तो उत्पन्न किया जा सकता है और न ही नष्ट किया जा सकता है। ऊर्जा को हम केवल एक रुप से दूसरे रुप में परिवर्तित कर सकते है। इसे ऊर्जा संरक्षण का नियम कहते है।
इस ब्रह्मांड में कुल ऊर्जा नियत रहती है लेकिन कोई यह नहीं जानता कि कुल ऊर्जा कितनी है।। ऊर्जा को हम संग्रहीत कर सकते है तथा किसी अन्य पदार्थ में स्थानांतरित कर सकते है। स्थानांतरित की गई ऊर्जा को हम माप सकते है।

ऊर्जा की SI यूनिट जूल तथा CGS यूनिट अर्ग है।
ऊर्जा के रूपांतरण गुणक निम्नलिखित है

  • 1 calorie = 4.2 joule
  • 1 erg = 10-7 joule
  • 1 kilowatt hour ( kWh ) = 3.6 ×106 joule
  • 1 electron volt ( eV ) = 1.6 × 10-19 joule

ऊर्जा की विमाएं कार्य की विमाओं के समान ही होती है।

ऊर्जा संरक्षण के नियम के अनुसार ऊर्जा ( Energy ) को न तो उत्पन्न किया जा सकता है और न ही नष्ट। ऊर्जा ( Energy ) को केवल एक रुप से दूसरे रुप में परिवर्तित किया जा सकता है।