जगत :- प्रोटिस्टा

⏺️जगत :- प्रोटिस्टा
➡️लक्षण :-
1)एककोशिकीय और यूकैरयोटिक।
(विशेष :- यूकैरयोटिक – ऐसे जीव जिनका केन्द्रक कलाबद्ध (membrane bound)होता है तथा आनुवंशिक पदार्थ हिस्टोन युक्त होता हैं।इनकी सेल्स में कलाबद्ध कोशिकांग पाए जाते है।)
2)जल,स्थल और नम स्थान पर पाए जाते हैं।
3)स्वपोषी और विषमपोषी।
4)कुछ सदस्यों में चलन अंग जैसे कशाभ (flagella), पक्ष्माभ(cilia), कुटपाद(pseudopodia)पाए जाते है।
5)प्रजनन :-अलैंगिक व लैंगिक।
6)कुछ सदस्यों की सेल्स में सेल वॉल पाई जाती है। जैसे :- फाइटोप्लैंकटोन,
कुछ में नही पाई जाती जैसे :- जूप्लैंकटोन।
7)प्रोटिस्टा के प्रकार :-
(a) प्रकाश संश्लेषी प्रोटिस्ट :- diatoms, dinoflagellate, euglenoid etc..

(b)उपभोक्ता अपघटक प्रोटिस्ट :-dictyostelium, pseudoplasmodium, fayserum etc..

(c)प्रोटोज़ोऑन प्रोटिस्ट :- entamoeba, tripenosoma, paramishium,
sporozoa etc..