जलोद्भिद् पादप

ऐसे पादप जो जलीय आवासों में रहने के लिये अनुकूलित हो, जलोद्भिद् पादप कहलाते है।
जलोद्भिद् पादप में जड़े अल्पविकसित होती है। तने में उत्पलावकता बनाए रखने के लिए वायुकोश पाए जाते है जो इन्हें जल में तैरने में मदद करते है। इन पौधों की पत्तियां कटी फट्टी व रिबन के समान होती है। उदाहरण- वेलिसनेरिया, आइकोर्निया, सेजिटेरिया रेननकुलस, कमल, हाइड्रिला, सिंघाड़ा, जलकुंभी।