द्विनाम पद्धति

जीवो के नामकरण की द्विनाम पद्धति का प्रतिपादन केरौलस लीनियस ने किया था। द्विनाम पद्धति में पहला नाम जीनस और दूसरा स्पीशीज का होता है। कैरोलस लीनियस ने ‘सिस्टेमा’ पुस्तक लिखी जो आगे चलकर विभिन्न वर्गीकरण प्रणालियों का आधार बनी।