पर्यावरण

Environment शब्द फ्रेंच भाषा के शब्द ‘Environ’ से बना है, जिसका अर्थ है “surroundings” अर्थात् हमारे आस-पास का क्षेत्र। पर्यावरण शब्द संस्कृत भाषा के ‘परि’ उपसर्ग और ‘आवरण’ से मिलकर बना है। परि का अर्थ चारों ओर होता है अत: environment का अर्थ हमारे चारों ओर का आवरण है।
“Surroundings” में हम जैविक घटक जैसे मनुष्य, पौधे, प्राणी, सूक्ष्म जीव तथा अजैविक घटक में हम वायु, जल, मिट्टी, प्रकाश आदि को शामिल करते है।
प्रकृति में उपस्थित जैविक घटक जैसे मनुष्य, पौधे, प्राणी, सूक्ष्म जीव तथा अजैविक घटक जैसे वायु, जल, मिट्टी, प्रकाश आदि मिलकर environment का निर्माण करते है।

Environment एवं जीव-जगत में अंर्तसंबंध है क्योंकि ये एक दूसरे को प्रभावित करते है अत: शुद्ध Environment इनके लिये अति आवश्यक है।

पर्यावरण ( Environment ) के प्रमुख क्षेत्र

Environment एक अत्यंत व्यापक विषय है। इसके प्रमुख क्षेत्र निम्न है-

  • प्रकृति एवं प्राकृतिक स्रोतों का संरक्षण ।
  • पर्यावरणीय प्रदूषण को नियंत्रित करना।
  • मानव जनसंख्या को नियंत्रित करना।
  • प्रदूषण रहित नवीकरणीय ऊर्जा तंत्र (Renewable energy system ) का विकास करना।

पर्यावरण ( environment ) का महत्व

Environment पृथ्वी पर उपस्थित सभी जीवों से संबंधित है तथा यह सभी के लिये महत्वपूर्ण है।
इस पृथ्वी पर उपस्थित सभी जीव-जन्तु, पेड़-पौधे, मनुष्य आदि पर्यावरणीय कारकों जैसे ग्लोबल वार्मिंग ( global warming ), ओजोन परत का अपक्षय ( depletion of ozone layer ), जैवविविधता का हास ( loss of biodiversity ), अम्ल वर्षा ( acid rain ) से प्रभावित है।
जनसंख्या वृद्धि, औद्योगीकरण, वन विनाश, पर्यावरण प्रदूषण के कारण पर्यावरण अध्ययन का अत्यधिक महत्व है।
पर्यावरण अध्ययन से हम सुरक्षित, स्वच्छ, स्वस्थ एवं प्राकृतिक ecosystem स्थापित कर सकते है।