भोर का तारा

शुक्र ग्रह को भोर का तारा कहते है। शुक्र वास्तव में एक ग्रह है न कि तारा। शुक्र ग्रह को हम सूर्योदय से लगभग 3 घंटे पहले देख सकते है यदि वे प्रातः कालीन ग्रह हो।
शुक्र के चारों ओर सल्फ्यूरिक एसिड के बादल है जो कि सूर्य के अधिकांश प्रकाश को परावर्तित कर देता है इस कारण यह अत्यधिक चमकीला दिखाई देता है।