यांत्रिक ऊर्जा

यांत्रिक ऊर्जा (Mechanical energy)

किसी पिंड में उसकी स्थिति अथवा गति के कारण निहित ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा कहते है।

यांत्रिक ऊर्जा दो प्रकार की होती है-

  1. [[गतिज ऊर्जा]]
  2. [[स्थितिज ऊर्जा]]

किसी system की स्थितिज ऊर्जा एवं गतिज ऊर्जा system की कुल यांत्रिक ऊर्जा कहलाती है।

किसी समय किसी system की सम्पूर्ण [[ऊर्जा]], स्थितिज ऊर्जा अथवा गतिज ऊर्जा के रुप में हो सकती है।

यांत्रिक ऊर्जा का मान [[निर्देश तंत्र]] पर निर्भर करता है। जब कोई system बद्ध अवस्था में होता है तो उसकी यांत्रिक ऊर्जा ऋणात्मक होती है।

यांत्रिक ऊर्जा संरक्षण नियम के अनुसार संरक्षी बलों की उपस्थिति में किसी पिण्ड की गतिज ऊर्जा एवं स्थितिज ऊर्जा का योग अचर होता है।

गतिज ऊर्जा + स्थितिज ऊर्जा = अचर