राजप्रशस्ति

रणछोड़ भट्ट द्वारा संस्कृत भाषा में लिखित प्रशस्ति को 25 शिलाओं पर खुदवाया गया था। जिसे ‘राजप्रशस्ति’ के नाम से जाना जाता है। इसे 1676 ई. में महाराजा राजसिंह द्वारा कांकरोली में राजसमंद झील पर स्थापित कराई गई। यह भारत देश का सबसे बड़ा शिलालेख है।