विभेदी निष्कर्षण

यह अमिश्रणीय द्रवों को पृथक करने की विधि है। जैसे- तेल एवं जल।
मिश्रण को पृथक्कारी कीप में डालने पर दोनों द्रवों की भिन्न-भिन्न परतें प्राप्त होती है। स्टाॅप काॅक को खोलने से पहले भारी द्रव एवं बाद में हल्का द्रव प्राप्त होता है।